पीपल के वीर्यवर्धक गुण – Semen enhancing properties of Ficus religiosa (Peepal)

यह सन्देश वैद्य रामप्रसाद निषाद का फरसगांव, कोंडागांव, छत्तीसगढ़ से है. अपने इस सन्देश में रामप्रसादजी हमें वीर्यवर्धक पीपल के औषधीय गुणों के बारे में बता रहे है. इनका कहना है कि पीपल के वृक्ष को दैवीय मान्यता मिली है और इसे पूजा जाता है इसके अलावा इसके कई औषधीय गुण है. पीपल के फल, छाल, जड़ और कोमल पत्तियों को समान मात्रा पीसकर इसके दसवें भाग में बड का दूध मिला लें. जिन व्यक्तियों को उनके दांपत्य जीवन में परेशानी का सामना करना पड़ता है उनके द्वारा इस नुस्खे को सुबह-शाम खाली पेट गुनगुने दूध के साथ लेने साथ ही इन्द्रजों के चूर्ण को भी सुबह-शाम गुनगुने दूध के साथ लेने से वीर्य की वृद्धि होती है इसके साथ ही उड़द की दाल का सेवन अधिक करें. मिर्च-मसालेदार तैलीय भोजन और खटाई का परहेज करें.

This is a message of vaidya Ramprasad Nishad from Farasgaon, Kondagaon, Chhatisgarh. In this message he is describing us traditional medicinal properties of Ficus religiosa also known as Peepal in Hindi. He says apart from its mythological & divine properties this plant has many medicinal properties & semen enhancing property is one of them. Grind its leaves, bark, fruit & root in equal quantity & hereafter add Banyan milk in 1/10 of total quantity & mix well. Taking this combination twice a day empty stomach in 1 spoon quantity with lukewarm milk is beneficial. Precaution should be taken avoid oily-spicy & sour items.

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *