आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में: ब्राह्मणी के पत्ते और पीपल की छाल के औषधीय गुण

ग्राम-तमनार, जिला -रायगढ़, (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी कुछ घरेलू नुस्खे बता रहे है. वे कह रहे हैं कि ब्राह्मणी एक पौधा होता है वह नदी के किनारे मिलता है या जहाँ पर पानी होता है। ब्राह्मणी पत्ता छोटे बच्चो को 5 से 6 पत्ते 2 दिन में दो बार सुबह और शाम को और बड़े उम्र के लोगो के लिए 2 बार 10 से 20 पत्ते, बुजुर्ग लोगो को दिन में तीन बार दीजिये इससे मस्तिष्क ठीक रहता है, याददाश्त तेज रहती है और ह्रदय रोगी को भी फायदा होता है, (2) पीपल की छाल को पीसकर चाय जैसे दिन में दो बार नियमित लेने से जिन महिलाओ को गर्भ धारण नही होता है उससे गर्भवती हो जाती हैं. यह लगभग एक साल तक नियमित सेवन करना चाहिए। इसका कोई दुष्परिणाम नहीं होता।

Download (13 downloads)

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *