स्वास्थ्य स्वर: अडुषा के पौधे का औषधीय गुण..

जिला-टीकमगढ़ (मध्यप्रदेश) से वैद्य राघवेंद्र सिंह राय आज हम सभी को अडुषा के पौधे का औषधीय गुण बता रहे है: अणुषा (बाशा) का उदर कृमि (पेट में कीड़े हो) के रोग में अच्छा उपयोग हो सकता है. अणुषा के पत्तो के रस में मधु या शहद मिलाकर सेवन करने से पेट के कृमि नष्ट हो जाती है और वह बाहर निकल जाते है चर्म रोग में दाद खाज खुजली में इसके 20 पत्तो में 10 ग्राम हल्दी चूर्ण और गौमूत्र में पीसकर दाद, खाज, खुजली के स्थान पर लेप लगाने से दाद, खाज, खुजली की समस्या में लाभ होता है अगर किसी को बमन या उल्टी होती है तो अणुषा के पत्तो के रस में मधु अथवा नीबू का रस मिलाकर के सेवन करने से लाभ होता है| सम्पर्क नम्बर 9424759941

Download (8 downloads)

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *