पुनर्नवा की औषधीय उपयोगिता / Medicinal usage of Punarnava (Boerhavia diffusa)

यह संदेश निर्मल अवस्थी का वार्ड क्रमांक 4, कस्तूरबा नगर, बिलासपुर से है…अपने इस संदेश में अवस्थीजी हमें दिव्य औषधि पुनर्नवा के चिकित्सीय गुणों के बारे में बता रहे है…इनका कहना है की पुनर्नवा पगडंडियों के किनारे, बाड़ो में, खेतों की मेड़ो पर आसानी से देखी जा सकती है…इसका पंचांग शीत ऋतु के अंतिम चरण में सुखाकर बंद डिब्बों में रखना चाहिये… इस प्रकार रखने से यह 6 माह से 1 वर्ष तक गुणकारी रहती है… इनका कहना है की पुनर्नवा के उपयोग से मूत्र की मात्रा में पर्याप्त वृद्धी होती है…हृदय का कार्य व्यवस्थित हो जाता है तथा धमनियों में रक्त संचार बढ़ जाता है…जिसके परिणाम स्वरूप शोथ दूर हो जाता है और शरीर को बल मिलता है. पुनर्नवा का 25-40 ग्राम पंचांग 8 गुना जल में मिलाकर पकाएं जब वह चौथाई शेष रह जाये तो उसे छानकर रख लें. इसका सुबह और शाम 10 मी.ली मात्रा में 1 ग्राम सौंठ का चूर्ण मिलाकर सेवन करें…पुनर्नवा बाल-शरबत -पुनर्नवा की पत्तियों का रस 100 मी.ली., मिश्री चूर्ण 200 ग्राम तथा छोटी पीपली का चूर्ण 12 ग्राम मिलाकर पकाएं जब गाढ़ी चाशनी बन जाये तो छानकर रख लें..मात्रा 4-8 बूंद उम्रनुसार बच्चों को दिन में 4-5 बार चटायें. यह बच्चों को होने वाले अनेक प्रकार के रोगों जैसे खांसी, श्वास, दमा, लार बहाना, यकृत विकार, सर्दी-जुकाम, वमन तथा हरे-पीले दस्त के उपचार में लाभदायक है…निर्मल अवस्थीजी का संपर्क 9685441912

This is a message of Nirmal Awasthi from ward no. 4, Kasturba Nagar, Bilaspur..In this message Nirmalji is describing us medicinal usages of Punarnava (Boerhavia diffusa).. Punarnava is a herb & commonly found in farms, rural trails & at road sides. Punarnava enhances the amount of urine discharge…organised  heart functioning..increases blood flow in arteries which results inflammation goes away… Boil 25-40 grams Punarnava panchang (Leaves, flower, bark, seeds & root) in eight times more water than the weight of panchang.. when quarter water remains filter this preparation and take this in 10 ml in quantity after adding 1 gram dry ginger powder twice a day. To prepare Punarnava syrup for children take 100 ml juice of Punarnava leaves, 200 gram sugar candy (Mishri) and 12 gram (Choti Pipli) powder and boil until this combination converts into paste after filtering give 4-5 drops according to child’s age…Contact of Nirmal Kumar Awasthi is 9685441912

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *