टमाटर के पारंपरिक औषधीय उपयोग / Traditional medicinal uses of Tomatoes

यह सन्देश दीपक आचार्य का अभूमका हर्बल्स अहमदाबाद से है. अपने इस सन्देश में दीपकजी हमें टमाटर के पारंपरिक औषधीय उपयोगो के बारे में बता रहे है. इनका कहना है कि टमाटर का उपयोग हर भारतीय रसोई में होता है. टमाटर में पाए जाने वाले विटामिन गर्म होने पर भी नष्ट नहीं होते है. आदिवासियों के अनुसार टमाटर संतरे और अंगूर से ज्यादा लाभदायक होता है. पातालकोट के आदिवासी मानते है यह दातों और हड्डियों की कमजोरी को दूर करता है. जिन्हें रक्ताल्पता की शिकायत हो उन्हें 1 गिलास टमाटर का रस प्रतिदिन पीना चाहिए. इससे रक्तहीनता दूर होकर रक्त की वृद्धि होती है. कम वजन के व्यक्तियों को टमाटर का सेवन प्रतिदिन करना चाहिए. गुजरात के डांग हर्बल जानकारों के अनुसार लाल टमाटर पर अदरक और सैंधा नमक डालकर खाने से अपेंडिक्स में लाभ मिलता है. चेहरे पर यदि काले दाग-धब्बे हो तो टमाटर के रस में रुई भिगोकर कर चेहरे पर लगाने से दाग-धब्बे कम हो जाते है. टमाटर की चटनी में कालीमिर्च और सैंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम खाने से पेट के कृमि नष्ट हो जाते है. जिन लोगो को अक्सर मुहँ में छाले होने की शिकायत रहती हो उन्हें टमाटर का अधिक सेवन करना चाहिए. दीपक आचार्य का संपर्क है 9824050784

This is a message of Deepak Acharya from Abhumka Herbals, Ahmedabad. In this message he is telling us traditional medicinal uses of Tomato. He says Tomato is used in every Indian kitchen. Vitamins found in Tomato are not destroyed even after heating. According to tribal belief Tomato is more useful than Orange & Grapes. As per tribal knowledge of Patalkot it is useful for removing weakness of teethes & bones. Anemic persons should drink 1 glass Tomato juice everyday. As per herbal experts of Daang Gujrat, Eating Tomato after sprinkling little ginger & rock salt is beneficial to get relax in Appendices. Applying Tomato juice on face using cotton Pledget is useful to get rid of blot & stains. Eating tomato sauce after adding black pepper & rock salt twice a day is useful for destroying stomach worms. Regular consumption of Tomatoes is beneficial for curing mouth blisters. Deepak Acharya’s at 9824050784.

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *