Tag Archives: केला / Banana

दिमागी शक्ति बढ़ाने की पारंपरिक मिठाई – Traditional sweet for enhancing brain power

यह सन्देश काजल उइके का देवदरा, मंडला, मध्यप्रदेश से है अपने इस सन्देश में कजलजी हमें मस्तिष्क को बल प्रदान करने वाले पारंपरिक लड्डू के बारे में बता रही है. इनका कहना है कि इसे हर उम्र के व्यक्ति उपयोग कर सकते है. इसके प्रमुख घटक है ½ किलो चिरोंजी, ½ किलो बादाम, ½ किलो छुआरे, ½ किलो काले मुनक्का इन सभी सामग्रियों को कूटकर उसमे थोडा शहद और गुड मिलाकर इसके लड्डू बनाकर इसे किसी काँच के मर्तबान में रखे. इन लड्डुओं को प्रतिदिन 2-2 लड्डू सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करने से मस्तिष्क को बल मिलता है. दूसरी विधि है सेव, अनार, काली मुनक्का और केले के टुकडे करके के दूध में औटाकर खाने से भी लाभ मिलता है आप चाहे तो इसमें मिठास के लिए शहद भी मिला सकते है.

This is a message of Kajal Uikey from Deodara, Mandla, Madhya Pradesh. In this message she is telling us about traditional sweet suitable all age groups for enhancing brain power. Take ½ Kg Chironji (Seeds kernel of Buchanania lanzan tree fruit), ½ Kg Almonds, ½ Kg dried dates & ½ Kg dried black Grapes & after adding Honey & Jaggery make Indian gooseberry sized balls. Taking this sweet balls in 2 balls daily with milk twice a day is useful for increasing brain power. The second one is cut an Apple, Pomegranate, Banana & dried blacekGrapes & boil after adding milk until it become condensed. To make it sweet you can also add Honey to it. Taking this combination daily is beneficial to sustain brain power.

Share This:

केले की औषधीय उपयोगिता / Medicinal properties of Banana

यह सन्देश दीपक आचार्य का अभूमका हर्बल्स, अहमदाबाद से है अपने इस सन्देश में दीपकजी हमें केले के पारंपरिक औषधीय गुणों के बारे में बता रहे है. इनका कहना है कि केले के औषधीय गुणों को कम लोग जानते है. केला चाहे कच्चा हो या पका हुआ इन दोनों की अपनी औषधीय उपयोगिता है. यही नहीं केले के फूल भी गुणकारी होते है. ताजा कच्चा केला दस्तरोधी  होता है इसमें ऐसे स्टार्च पाए जाते है जिनमे दस्त रोकने के गुण होते है. बंगलादेश के देहाती क्षेत्रों में  में आज भी नवजात शिशुओं को दस्त होने पर कच्चे केले को पीसकर चटाते है. ऐसा माना जाता है कि केले का छीलका प्रोस्टेट ग्रंथि की वृद्धि को रोकने में मददगार होता है. केले के छिलके को सुखाकर पीस लिया जाये और इस चूर्ण का आधा चम्मच की मात्र में सेवन किया जाये तो यह प्रोस्टेट ग्रंथि की वृद्धि को रोकने में मदद करता है. केले के तने का रस पथरी में कारगर होता है. एक शोध के अनुसार केले के तने का रस गुर्दे  की पथरी को तोड़कर उसे मूत्र मार्ग से बाहर निकाल देता है. केले की जड़ और कच्चे केले में मधुमेह को नियंत्रित करने के के गुण होते है. आधुनिक चिकित्सा विज्ञान के वैज्ञानिकों के केले के पौधे के इन हिस्सों को मधुमेह को नियंत्रित करने वाली औषधि ग्लिबेनक्लेमाइड के समरूप पाया है. दीपक आचार्य का संपर्क है 9824050784

This is a message of Deepak Acharya from Abhumka Herbals, Ahmedabad. In this message he is traditional medicinal properties of Banana. Raw & ripen bananas both have medicinal properties & banana flowers are also equally beneficial as well. Fresh raw banana has antidiarrheal properties. In rural areas of Bangladesh people are using raw banana for diarrheal treatment of infants. Powder of dried banana skin is helpful for controlling the growth of prostate gland. Banana stem juice is effective in Kidney stone. Raw banana & banana root has diabetes controlling properties. Deepak Acharya’s at 9824050784

Share This:

केले की उपयोगिता / Useful properties of Banana

यह सन्देश निर्मल महतो का नवाडी, बोकारो, झारखण्ड से है. अपने इस सन्देश में निर्मलजी हमें केले की उपयोगिता के बारे में बता रहें है. इनका कहना है कि केला एक गुणकारी फल है और इसकी एक खासियत यह है कि यह सर्वत्र  वर्ष भर उपलब्ध होता है. इसकी गणना पवित्र फलों में की जाती है. भारत में लगभग सभी विवाह समारोहों, पूजा, विभिन्न आयोजनों में केले की पत्तियों का उपयोग होता है. इस की पत्तियों के तोरण बनाये जाते है. कई अंचलो में प्रितिभोजों के अवसर पर इसकी पत्तियों का उपयोग पत्तल के रूप में किया जाता है. कई अफ़्रीकी देशों में यह लोगो के मुख्य भोजन में शामिल है. वह कच्चे केले को सूखाकर उससे बने आटे का उपयोग रोटी बनाने में करते है.  पके केले तो खाए ही जाते है पर कच्चे केलों को उबालकर और भूनकर भी खाया जाता है. कच्चे केलों और इसके फूलों का प्रयोग सब्जी के रूप में भी किया जाता है. दक्षिण भारत में इसका प्रचलन अधिक है. वैज्ञानिक अनुसंधानों के अनुसार केला एक बहुगुणी फल है. केले में पौष्टिक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते है. कार्बोहाइड्रेट के अलावा इसमें लौह तत्व, कैल्शियम, सल्फर और कॉपर पर्याप्त मात्रा में होता है. जीवनशक्ति प्रदान करने वाले विटामिन और हड्डियों को मजबूती देने वाला फास्फोरस भी इसमें पाया जाता है. केले के नियमित सेवन से रक्त कणों की अभिवृद्धि और हड्डियाँ परिपुष्ट होती है. यह एक अत्यंत सुपाच्य फल है. अल्सर में केले की सब्जी लाभदायक होती है. निर्मल महतो का संपर्क है 9204332389

This is a message of Nirmal Mahto from Nawadi, Bokaro, Jharkhand. In this message he is telling use different useful properties of Banana. He say’s Banana is a healthy fruit & its USP is that it is universally available throughout the year. In India It is used in almost every wedding ceremonies & worships. Banana leaves is used for making archway. In many regions Banana leaves are used as plates in party occasions. In many African countries Banana is included in their main meals. They are using dried Banana floor for making bread. Raw Bananas is also eaten after baking or roasting. Raw Banana & Banana flowers are used as a vegetable. It is more prevalent in Southern India. According to scientific research Banana is a multipurpose fruit. Banana is rich in nutrients. In addition to carbohydrates, Banana contains iron, sulfur, copper & calcium in adequate quantity as well.  Banana is packed with vitamins for improving viability & phosphorus to strengthen bones. It is highly digestive fruit. Taking Banana as a vegetable is very useful for Ulcer patients. Nirmal Mahto’s at 9204332389

Share This: