Tag Archives: माल कांगनी / Celastrus paniculatus

जोड़ो-घुटनों की सूजन का पारंपरिक उपचार – Traditional treatment of Knee-Joint pain

इस सन्देश में गुंडरदेही, जिला बालोद, छत्तीसगढ़ के वैद्य हरीश चावड़ा जोड़ो और घुटनों की सूजन के उपचार का पारंपरिक नुस्खा बता रहे है.  इसके लिए 80 ग्राम शुद्ध शोधित भिलवा, 50 ग्राम गुड,  10 ग्राम पीपर, 10 ग्राम अकरकरा, 10 सौंठ, 10 ग्राम मालकांगनी इन सभी को पीसकर इसकी लगभग 125 मिलीग्राम की गोलियाँ बनाकर रख लें. इन गोलियों को 2-2 गोली की मात्रा में सुबह-शाम गुनगुने पानी के साथ लेने से लाभ होता है.

In this message vaid Harish Chawda of Gunderdehi, Balod, Chhatisgarh suggesting traditional treatment of joint & knee swelling.  Grind 80 gms detoxified Bhilwa (Semecarpus anacardium) also known marking nut, 50 gms Jaggery, 10 gms flower of Toothache plant, 10 gms dried Ginger & 10 gms Malkangani (Celastrus paniculatus) and after proper mixing make 125 milligram sized pills. Taking this pills in 2 pills quantity twice a day with lukewarm water is beneficial. 

Share This:

स्मरणशक्ति बढाने का पारंपरिक उपाय – Traditional method to increase memory

यह सन्देश रामप्रसाद निषाद का कोंडागांव, बस्तर, छत्तीसगढ़ से है. अपने इस सन्देश में रामप्रसादजी हमें स्मृति भ्रम और कुंठित बुद्धि का पारंपरिक उपचार बता रहें है. इनका कहना है कि इस रोग से ग्रस्त रोगी की स्मरण शक्ति क्षीण हो जाती है और रोगी को किसी भी विषय का ज्ञान नहीं रहता है. इसके पारंपरिक उपचार के लिए मालकांगनी जिसे संस्कृत में ज्योतिष्मती के नाम से जाना जाता है के फलों के छिलके उतार कर उसका तेल निकालकर सुरक्षित रख लें. इस तेल की 1 से 5 बूंदे रोगी को बताशे में डालकर प्रतिदिन प्रातः खिलाएं ऐसा करने से लाभ होगा. इसमें मिर्च मसालेदार और गरिष्ठ भोजन और खटाई से बचना एवं सुपाच्य भोजन करना चाहिए विशेषकर विटामिन सी युक्त वस्तुओं का सेवन करना चाहिए.

Ramprasad Nishad from Kondagaon, Chhatisgarh, is giving tip for traditional remedy of memory loss. Extract oil from Malkangani (Black oil Plant) fruit after removing its skin. 1-5 drops of this oil soaked in Batasha (Sugar biscuit) taken early morning daily will prove beneficial. During the treatment oily, spicy & heavy meals should be avoided and preference should be given to healthy & vitamin C enriched food. 

Share This:

मति भ्रम का पारंपरिक उपचार / Traditional treatment of Memory loss

यह सन्देश रामप्रसाद निषाद का कोंडागांव, बस्तर, छत्तीसगढ़ से है. अपने इस सन्देश में रामप्रसादजी हमें स्मृति भ्रम और कुंठित बुद्धि का पारंपरिक उपचार बता रहें है. इनका कहना है कि इस रोग से ग्रस्त रोगी की स्मरण शक्ति क्षीण हो जाती है और रोगी को किसी भी विषय का ज्ञान नहीं रहता है. इसके पारंपरिक उपचार के लिए मालकांगनी जिसे संस्कृत में ज्योतिष्मती के नाम से जाना जाता है के फलों के छिलके उतार कर उसका तेल निकालकर सुरक्षित रख लें. इस तेल की 1 से 5 बूंदे रोगी को बताशे में डालकर प्रतिदिन प्रातः खिलाएं ऐसा करने से लाभ होगा. बच और शक्कर का बराबर मात्रा में चूर्ण बनाकर रख लें. यह चूर्ण 3 ग्राम (एन चम्मच) की मात्रा में रोगी को सुबह पानी के साथ दें इससे 8-10 दिनों में आराम मिलना शुरू हो जायेगा. बच के टुकड़े को 10 -15 मिनटों तक चूसने से भी लाभ मिलता है. दालचीनी का 3 ग्राम चूर्ण प्रतिदिन प्रातः रोगी को पानी के साथ देने से भी लाभ मिलता है. इसमें मिर्च मसालेदार और गरिष्ठ भोजन और खटाई से बचना एवं सुपाच्य भोजन करना चाहिए विशेषकर विटामिन सी युक्त वस्तुओं का सेवन करना चाहिए. रामप्रसाद निषाद का संपर्क है 7879412247

This is a message of Ramprasad Nishad from Kondagaon, Bastar, Chhatisgarh. In this message he is telling use traditional remedy of memory loss. He say’s in this disorder the memory of suffering patient have diminished & the patient has no knowledge of any subject. Remove skin of Black oil plant (Malkangani) fruit and grind well until oil is extracted & 1-5 drops of this oil has to be given to the patient after dripping it on Sweet biscuit (Batasha). It is very useful for the patient. Make fine powder of Sweet flag (Bach) after adding sugar in equal quantity. Giving this 3 grams powder to the patient with water early morning is beneficial. Giving 3 grams  of Cinnamon powder daily with water to the patient is useful. During the treatment oily, spicy & heavy meals should be avoided. Preference should be given to digestive & vitamin C enriched food. Ramprasad Nishad’s at  7879412247

Share This: